Coronavirus India Updates : दिल्ली में कोविड-19 के 47 नए मामले, किसी मरीज की मौत नहीं

Spread the love

दिल्ली में अबतक कोरोना महामारी से 25,087 लोगों की मौत हुई है. (फाइल फोटो)

दिल्ली (Delhi) में गुरुवार को कोविड-19 (COVID-19) से किसी मरीज की मौत नहीं हुई, जबकि 47 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई. स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर 0.06 प्रतिशत रही. स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में अबतक महामारी से 25,087 लोगों की मौत हुई है. बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में गुरुवार तक 14,38,868 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से 14.13 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं.

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, गुरुवार को उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 400 हो गई है, जबकि एक दिन पहले यह 392 थी. बुलेटिन के मुताबिक, गृह पृथकवास में इलाज करा रहे मरीजों की संख्या बुधवार के 107 के मुकाबले बढ़कर गुरुवार को 109 हो गई. वहीं, गुरुवार को दिल्ली में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या 97 रही.

Here are the Updates on India Coronavirus Cases in Hindi :

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

दिल्ली में सार्वजनिक स्थलों और नदी के किनारे छठ मनाने की अनुमति नहीं होगी : डीडीएमए

दिल्ली में इस साल सार्वजनिक स्थानों और नदी के किनारे छठ का त्योहार मनाने की अनुमति नहीं होगी. इसके साथ ही त्योहारों के दौरान मेला या खाने-पीने की दुकानें लगाने नहीं दी जाएंगी. यह घोषणा दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने गुरुवार को की. प्राधिकरण ने नए कोविड-19 दिशानिर्देश में हालांकि कहा है कि बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने और समारोह के लिए नियमों में ढील त्योहार मनाने के लिए केवल 15 नवंबर तक दी गई है. डीडीएमए ने एक आधिकारिक आदेश में कहा, ”दिल्ली में त्योहारों के दौरान प्रदर्शनी, मेला, खाने – पीने की दुकानें, झूला, रैली और जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी. सार्वजनिक स्थानों पर छठ मनाने की भी अनुमति नहीं दी जाएगी और लोगों को सलाह दी जाती है कि वे इस त्योहार को अपने घर में ही मनाएं.” 

आदेश में कहा गया है, ”उत्सव समारोह मनाने के लिए सभी आयोजकों को पूर्व में ही संबंधित जिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी. जिलाधिकारी या प्राधिकारी निषिद्ध क्षेत्र में कोई भी कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं देंगे.” डीडीएमए ने स्पष्ट किया किसी भी उत्सव में लोगों को खड़े होने या जमीन पर बैठने की अनुमति नहीं होगी और केवल कुर्सियों की व्यवस्था होने और सामाजिक दूरी का अनुपालन करने पर ही कार्यक्रम की अनुमति दी जाएगी.

ओडिशा में कोविड-19 के 602 नये मामले, छह मरीजों की मौत

ओडिशा में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 602 नये मामले सामने आये जिसके बाद प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 10,26,476 हो गयी. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. नये संक्रमितों में 96 बच्चे एवं किशोर भी शामिल हैं. अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में संक्रमण से छह और मरीजों की मौत हो गयी जिसके बाद कोविड-19 महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 8,198 हो गयी है. संक्रमण के नये मामलों में 353 मामले पृथकवास केन्द्रों से सामने आए जबकि शेष 249 मामलों का पता स्थानीय संपर्क के जरिए चला.

खुर्दा जिले में सर्वाधिक 283 नये रोगी मिले, राजधानी भुवनेश्वर भी इसी जिले का हिस्सा है. इसके बाद कटक में संक्रमण के 54 नये मामले सामने आए. इस दौरान छह ऐसे जिले रहे जहां कोरोना वायरस संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया. खुर्दा और केन्द्रपाड़ा जिले में कोविड-19 से दो-दो मरीजों की मौत हुई जबकि अंगुल और जगतसिंहपुर जिले में संक्रमण से एक-एक मरीज की जान गयी. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में अभी 5,642 मरीज उपचाराधीन हैं जबकि अब तक 10,12,583 लोग संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं. प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान 467 मरीज ठीक हुये हैं.

राज्य में अब तक 1.99 करोड़ से अधिक नमूनों की कोविड-19 जांच हो चुकी है, जिसमें से 68,254 नमूनों की जांच बुधवार को हुई. संक्रमण की दर 5.14 प्रतिशत हो गयी है. ओडिशा में अब तक 78,81,503 लोग कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं.

लद्दाख में कोविड-19 के सात नए मामले सामने आए

लद्दाख में एक दिन में कोविड-19 के सात नए मामले सामने आने के बाद केन्द्र शासित प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20,795 हो गई, जिनमें से 73 लोगों का अभी इलाज चल रहा है. इस दौरान 28 लोग ठीक भी हुए. अधिकारियों ने बताया कि नए मामलों में से लेह में छह मामले और एक मामला करगिल में सामने आया. 

लद्दाख में अभी तक संक्रमण से 207 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से लेह के 149 और करगिल के 58 लोग थे. उन्होंने बताया कि अभी तक लद्दाख में कुल 20,515 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और अभी 73 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जिनमें से लेह में 69 और करगिल में चार मरीज उपचाराधीन है.

केरल और महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले नियंत्रण में : मांडविया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने गुरुवार को यहां कहा कि वर्तमान में केरल और महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले नियंत्रित हो रहे है और उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में वहां भी स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में आ जाएगी. मांडविया ने संवाददाताओं से कहा, ”केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ रहे थे, मैं खुद केरल जाकर आया हूं और दिल्ली से विशेषज्ञों की एक टीम भी वहां भेजी गई थी.” उन्होंने कहा, ”इस संबंध में केरल के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य अधिकारी के साथ विस्तार से बातचीत हुई. वहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले नियंत्रित हो रहे है और मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले दिनों में वहां भी स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में आ जाएगी.”

देश में बच्चों के लिए कोविड-19 रोधी टीके की उपलब्धता के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”बच्चों के टीके के लिये अभी भारत बायोटेक और जायडस कैडिला अनुसंधान कर रही है और तीसरे चरण के परीक्षण चल रहे हैं.” मांडविया ने कहा, ” तीसरे चरण के परीक्षण सफल होने के बाद बच्चों का टीका आयेगा.” उन्होंने कहा कि राजस्थान में आने वाले समय में मेडिकल कॉलेजों में कुल 2600 सीटों की उपलब्धता होगी और इससे राजस्थान के विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा.

कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल के लिए सूचीबद्ध करने पर डब्ल्यूएचओ अक्टूबर में लेगा फैसला

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि भारत बायोटेक के कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन को आपात स्थिति में इस्तेमाल की मंजूरी देने के लिए सूचीबद्ध (ईयूएल) किए जाने के कंपनी के आग्रह पर फैसला अक्टूबर में किया जाएगा. कोवैक्सीन के आकलन की प्रक्रिया ”जारी” है. भारत बायोटेक ने अपने टीके के लिए 19 अप्रैल को रुचि प्रस्ताव (ईओआई) भेजा था. डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट पर ”डब्ल्यूएचओ ईयूएल/पीक्यू आकलन प्रक्रिया के तहत कोविड-19 रोधी टीकों के दर्जे’ संबंधी 29 सितंबर के नए दस्तावेज में कहा गया है कि भारत बायोटेक की कोवैक्सीन पर फैसला ”अक्टूबर 2021” में किया जाएगा.

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उसने टीके संबंधी आंकड़ों की समीक्षा छह जुलाई को आरंभ कर दी थी. संगठन के अनुसार, पूर्व अर्हता के लिए डब्ल्यूएचओ से किए जाने वाले अनुरोध या आपात स्थिति में इस्तेमाल के तहत टीकों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया गोपनीय होती है. यदि आकलन के लिए जमा कराया गया उत्पाद सूचीबद्ध किए जाने के वास्ते आवश्यक मापदंडों को पूरा करता है, तो डब्ल्यूएचओ व्यापक रूप से परिणाम प्रकाशित करेगा. एजेंसी के अनुसार, ईयूएल प्रक्रिया की अवधि टीका निर्माता द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ों की गुणवत्ता और डब्ल्यूएचओ के मानदंडों को पूरा करने वाले आंकड़ों पर निर्भर करती है.

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और एस्ट्राजेनेका एवं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का कोविशील्ड टीका भारत में व्यापक रूप से इस्तेमाल किए जाने वाले दो टीके हैं. भारत बायोटेक ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि उसने आपातकालीन उपयोग सूची (ईयूएल) के लिए वैक्सीन से संबंधित सभी आंकड़े डब्ल्यूएचओ को सौंप दिए हैं और अब उसे वैश्विक स्वास्थ्य संगठन के जवाब का इंतजार है. भारत बायोटेक ने ट्वीट किया था, ”कोवैक्सीन का नैदानिक ​​​​परीक्षण डेटा जून 2021 में पूरी तरह से संकलित और उपलब्ध था. विश्व स्वास्थ्य संगठन को आपातकालीन उपयोग सूची (ईयूएल) आवेदन के लिए सभी डेटा जुलाई की शुरुआत में सौंप दिए गए. हमने डब्ल्यूएचओ द्वारा मांगे गए स्पष्टीकरण का जवाब दिया है और आगे की फीडबैक की प्रतीक्षा कर रहे हैं.” भारत बायोटेक ने कहा कि कंपनी जल्द से जल्द डब्ल्यूएचओ ईयूएल पाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है.

पुडुचेरी में कोविड-19 के 59 नए मामले सामने आए

पुडुचेरी में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से 59 और लोगों के संक्रमित पाए जाने से महामारी के कुल मामलों की संख्या बढ़ कर 1,26,367 पर पहुंच गयी. स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. स्वास्थ्य निदेशक जी श्रीरामुलु ने बताया कि पुडुचेरी में 28 नए मामले, करईकल में 24, माहे में पांच और यमन में दो नए मामले आए. गुरुवार को सुबह दस बजे तक बीते 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण से किसी की मौत नहीं हुई और मृतकों की संख्या 1,840 पर बनी हुई है.

उन्होंने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में 57 लोगों के स्वस्थ होने के साथ ही अब तक संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या 1,23,697 हो गयी है. प्रदेश में अभी कोविड-19 के 830 मरीज उपचाराधीन हैं. स्वास्थ्य विभाग के निदेशक ने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में संक्रमण दर 1.14 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर और स्वस्थ होने वाले लोगों की दर क्रमश: 1.46 प्रतिशत और 97.89 प्रतिशत है. अभी तक पुडुचेरी में कोविड-19 रोधी टीकों की 10,03,013 खुराक दी जा चुकी हैं.

अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 के 128 नए मामले सामने आए

अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 के 128 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 54,572 हो गई. राज्य निगरानी अधिकारी (एसएसओ) डॉ. एल जाम्पा ने गुरुवार को बताया कि नए मामलों में से लोहित जिले में सर्वाधिक 44, तवांग में 35 और लोअर दिबांग वैली में 15 मामले सामने सामने आए. वेस्ट कामेंग में 89 वर्षीय व्यक्ति की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 276 हो गई. 

उन्होंने बताया कि बुधवार को 25 और लोगों के ठीक होने के बाद राज्य में संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या बढ़कर 53,856 हो गई. राज्य में अभी 440 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है. राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर 98.69 प्रतिशत है. उन्होंने बताया कि राज्य में अभी तक 11,43,159 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है और संक्रमण दर अभी 0.81 प्रतिशत है. इस बीच, राज्य के टीकाकरण अधिकारी डॉ. दिमोंग पाडुंग ने बताया कि अभी तक राज्य में 11,72,498 लोगों को कोविड-19 रोधी टीकों की खुराक दी गई है.

अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में कोविड-19 का कोई नया मामला नहीं

अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है. एक स्वास्थ्य अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि केन्द्र शासित प्रदेश में संक्रमण के अभी तक कुल 7,620 मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में दो और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद केन्द्र शासित प्रदेश में संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या बढ़कर 7,482 हो गई. अभी नौ लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, ये सभी लोग दक्षिण अंडमान जिले में उपचाराधीन हैं. उत्तर एवं मध्य अंडमान और निकोबार जिले में संक्रमण का अभी कोई मामला नहीं है.

उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में संक्रमण से मौत का भी कोई मामला सामने नहीं आया, मृतक संख्या 129 है. केन्द्र शासित प्रदेश में अभी तक 5,50,232 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है और संक्रमण दर 1.38 प्रतिशत है. अधिकारी ने बताया कि अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में कुल 4,40,904 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की खुराक दी जा चुकी है, जिनमें से 2,89,442 लोगों को दोनों खुराक दी जा चुकी है. वहीं, 1,51,462 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है.

देश में कोविड-19 के 23,529 नए मामले, 311 और लोगों की मौत

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 23,529 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोरोना वायरस सक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,37,39,980 हो गई. वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घट कर 2,77,020 रह गई, जो 195 दिन में सबसे कम है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 311 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,48,062 हो गई. देश में अभी 2,77,020 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.82 प्रतिशत है. 

यह दर मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है. पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 5,500 की कमी दर्ज की गई. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.85 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है. आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 56,89,56,439 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 15,06,254 नमूनों की जांच बुधवार को की गई. दैनिक संक्रमण दर 1.56 प्रतिशत है, जो पिछले 31 दिनों से तीन प्रतिशत से कम है. 

वहीं, साप्ताहिक संक्रमण दर 1.74 प्रतिशत है, जो पिछले 97 दिन से तीन प्रतिशत से कम बनी हुई है. अभी तक कुल 3,30,14,898 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, जबकि मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है. राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 88.34 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है.

महाराष्ट्र: ठाणे में कोविड-19 के 315 नए मामले, तीन और लोगों की मौत

महाराष्ट्र के ठाणे में कोरोना वायरस के 315 नए मामले सामने आने के बाद इस जिले में संक्रमण के मामले बढ़कर 5,59,110 हो गए. एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि ये नए मामले बुधवार को सामने आए. वहीं तीन और मरीजों की मौत के बाद जिले में मृतक संख्या बढ़कर 11,406 हो गई.

उन्होंने बताया कि जिले में कोविड-19 से मृत्यु दर 2.04 प्रतिशत है. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पड़ोसी पालघर जिले में कोविड-19 के मामले बढ़कर 1,35,882 हो गए, जबकि संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों की संख्या 3,276 है.


Spread the love

Leave a Comment